Class 10 History Chapter 4 औद्योगीकरण का युग Notes PDF in Hindi

प्रिय विद्यार्थियों आप सभी का स्वागत है आज हम आपको सत्र 2023-24 के लिए Class 10 History Chapter 4 Notes PDF in Hindi कक्षा 10 सामाजिक विज्ञान नोट्स हिंदी में उपलब्ध करा रहे हैं |Class 10 Samajik Vigyan Ke Notes PDF Hindi me Chapter 4 Owdyogiikaraṇ kaa yuga Notes PDF

Class 10 History Chapter 4 औद्योगीकरण का युग Notes PDF in Hindi

Class 10 Social Science [ History ] Itihas Chapter 4 The Age of Industrialisation Notes In Hindi

TextbookNCERT
ClassClass 10
SubjectHistory
ChapterChapter 4
Chapter Nameऔद्योगीकरण का युग
CategoryClass 10 History Notes in Hindi
MediumHindi

अध्याय = 4 औद्योगीकरण का युग

CBSE Class 10 सामाजिक विज्ञान
पाठ – 4

Class 10 History Chapter 4 औद्योगीकरण का युग Notes in Hindi

NCERT SOLUTIONS

प्रश्न 1 निम्नलिखित की व्याख्या करें-

  1. ब्रिटेन की महिला कामगारों ने स्पिनिंग जेनी मशीनों पर हमले किए।
    1. सत्रहवीं शताब्दी में यूरोपीय शहरों के सौदागर गाँवों में किसानों और कारीगरों से काम करवाने लगे।
    1. सूरत बंदरगाह अठारहवीं सदी के अंत तक हाशिये पर पहुँच गया था।
    1. ईस्ट इंडिया कंपनी ने भारत में बुनकरों पर निगरानी रखने के लिए गुमाश्तों को नियुक्त किया था।

उत्तर –

  1. जेम्स हरग्रीज़ ने 1764 में स्पिनिंग जेनी नामक मशीन बनाई थी। इस मशीन ने कताई की प्रक्रिया तेज कर दी और मज़दूरों की माँग घटा दी। एक ही पहिया घुमाने वाला एक मजदूर बहुत सारी तकलियों को घुमा देता था और एक साथ कई धागे बनने लगते थे। जब इन मशीनों का प्रयोग शुरू हुआ तो हाथ से ऊन कातने वाली औरतें इस तरह की मशीनों पर हमला करने लगी क्योंकि इस मशीन की वजह से उनका काम छिन गया था। इस मशीन की वजह से शारीरिक श्रम की माँग घटने के कारण बहुत-सी महिलाएँ बेरोजगार हो गई थीं। इसलिए उन्होंने स्पिनिंग जेनी के प्रयोग का विरोध किया।
  2. शहरी क्षेत्रों में गिल्ड हुआ करते थे जो बहुत प्रभावशाली थे। उनके कारण किसी भी नये व्यवसायी के लिए व्यवसाय में शुरुआत करना बहुत मुश्किल होता था। ऐसे गिल्ड किसी भी क्षेत्र में उत्पादन और कीमत दोनों को नियंत्रित करने का काम करते थे। इसलिए जो व्यापारी अपनी शुरुआत करना चाहते थे उन्होंने गाँवों से सामान बनवाना बेहतर समझा। इसलिए सत्रहवीं शताब्दी में यूरोपीय शहरों के सौदागर गाँवों में किसानों और कारीगरों से काम करवाने लगे।
  3. सूरत बंदरगाह गुजरात के तट पर स्थित था। मशीनी उद्योगों से पहले समुद्री व्यापार की दृष्टि से यह एक महत्वपूर्ण बंदरगाह था। इसके द्वारा भारत, खाड़ी देशों तथा लाल सागर के बंदरगाह से जुड़ा हुआ था। यह व्यापार भारती सौदागरों के नियंत्रण में था। परंतु 1750 के दशक तक यह व्यापार-जाल टूटने लगा। भारत में यूरोपीय कंपनियों की शक्ति बढ़ती जा रही थी। पहले उन्होंने स्थानीय दरबारों से कई प्रकार के रियायतें प्राप्त की और उसके बाद उन्होंने व्यापार पर अपना अधिकार जमा लिया और नए बंदरगाहों का निर्माण हुआ। फलस्वरूप सूरत और हुगली जैसे पुराने बंदरगाह अपना महत्व खो बैठे। इन बंदरगाहों से होने वाले निर्यात में बहुत ही कमी आ गई। पहले जिस पैसे से व्यापार चलता था वह कम होने लगा। धीरे-धीरे स्थानीय बैंकर दिवालिया हो गए। सत्रहवीं शताब्दी के अंत में सूरत बंदरगाह से होने वाले व्यापार का कुल मूल्य ₹ 1.6 करोड़ था। परंतु अगले 30-40 वर्षों में यह गिरकर केवल ₹ 30 लाख रह गया। इस प्रकार 18 वीं शताब्दी तक सूरत बंदरगाह हाशिये पर आ गया अर्थात अपना महत्व खो बैठा।
  4. ईस्ट इंडिया कंपनी भारत के वस्त्र व्यापार पर अपना एकाधिकार स्थापित करना चाहती थी। अतः कंपनी ने वस्त्र व्यापर की प्रतिस्पर्धा को खत्म करने, लागतों पर अंकुश रखने और कपास का रेशम से बनी चीजों की नियमित आपूर्ति सुनिश्चित करने के लिए प्रबंधन व नियंत्रण की एक नई व्यवस्था लागू कर दी।

कंपनी ने कपड़ा व्यापार में क्रियाशील व्यापारियों और दलालों को समाप्त करने तथा बुनकरों पर अधिक प्रत्यक्ष नियंत्रण स्थापित करने का प्रयत्न किया। कंपनी ने बुनकरों पर निगरानी रखने, माल एकत्रित करने और कपड़ों की गुणवत्ता जाँचने के लिए वेतनभोगी कर्मचारी तैनात कर दिए जिन्हें गुमाश्ता कहा जाता था।

प्रश्न 2 प्रत्येक के आगे ‘सही’ या ‘गलत’ लिखें:

  1. उन्नीसवीं सदी के आखिर में यूरोप की कुल श्रम शक्ति का 80 प्रतिशत तकनीकी रूप से विकसित औद्योगिक क्षेत्र में काम कर रहा था।
  2. अठारहवीं सदी तक महीन कपड़े के अंतर्राष्ट्रीय बाजार पर भारत का दबदबा था।
  3. अमेरिकी गृहयुद्ध के फलस्वरूप भारत के कपास निर्यात में कमी आई।
  4. फ्लाई शटल के आने से हथकरघा कामगारों की उत्पादकता में सुधार हुआ।

उत्तर –

  1. गलत
  2. सही
  3. गलत
  4. सही

प्रश्न 3 पूर्व औद्योगीकरण का मतलब बताएँ।

उत्तर – ब्रिटेन में औद्योगीकरण से ठीक पहले के दौर को पूर्व औद्योगीकरण कहते हैं। यह वह समय था जब ब्रिटेन में कारखाने नहीं खुले थे। इस अवधि के व्यवसाय का नेटवर्क अनूठे किस्म का था जिसे व्यापारी नियंत्रित करते थे। व्यापारी गाँव के लोगों से चीजें बनवाते थे। लोग अपने गाँव में रहते हुए ही काम किया करते थे। उन उत्पादों को गाँवों से लंदन जैसे शहरों तक लाया जाता था और फिर वहाँ से दुनिया के अन्य भागों में निर्यात किया जाता था।

Class 10 सामाजिक विज्ञान
औद्योगीकरण का युग

Class 10 सामाजिक विज्ञान
औद्योगीकरण का युग

महत्वपूर्ण घटनाक्रम

  • 1600 – ईस्ट इंडिया कंपनी का भारत आगमन।
  • 1730 – इंग्लैंड में फैक्ट्रियों की शुरुआत।
  • 1760 – ब्रिटेन ने अपनी सूती मिलो की खपत के लिए कपास का आयात प्रारंभ किया।
  • 1764 – स्पिनिंग जेनी का आविष्कार (जेम्स हरग्रीव्स), बक्सर की लड़ाई।
  • 1767 – रिचार्ज आर्कराइट द्वारा सूती कपड़ा मिल की रूपरेखा, पहला मैसूर युद्ध ​​​​​​(1767-69)।
  • 1781 – जेम्स वाट द्वारा स्टीम इंजन का आविष्कार एवं पेटेंट होना।
  • 1785 – कार्ट राइट ने बिजली से चलने वाले करघों का आविष्कार किया जो भाप का इस्तेमाल कातने और बुनने के लिए करते थे।
  • 183040 – द्वारकानाथ टैगोर द्वारा बंगाल में 6 संयुक्त उद्यम कंपनियों की शुरूआत, ब्रह्म समाज के संस्थापक राजा राम मोहनरॉय की इंग्लैंड यात्रा।
  • 1840 – औद्योगिकरण के पिछले चरण में ब्रिटेन अग्रणी उत्पादक बना। 1850 लंदन में रेलवे स्टेशनों का विकास
  • 1854 – मुंबई में पहली कपास मिल (कपड़ा मिल) की स्थापना। 1855 बंगाल में पहली जूट मिल का खुलना।
  • 1860 – अमेरिकी गृहयुद्ध से कपास की आमदनी बंद और कानपुर में एल्गिन मिल खुली।
  • 1861 – अहमदाबाद में पहली कपड़ा मिल की स्थापना, रवींद्रनाथ टैगोर का जन्म।
  • 1863 – लंदन में भूमिगत रेलवे की शुरुआत।
  • 1873 – ब्रिटेन से लौह इस्पात का निर्यात प्रारंभ।
  • 1974 – मद्रास में पहली करघा मशीन द्वारा उत्पादन प्रारंभ, भारत ने परमाणु परीक्षण किया, फखरुद्दीन अली अहमद पाँचवें रास्ट्रपति चुने गए, सिक्किम का भारत में विलय।
  • 1900 – ई. टी. पॉल म्यूजिक कंपनी ने किताब प्रकाशित की थी जिसकी जिल्द पर तस्वीर में नयी सदी के उदय (Dawn of Centuary) का ऐलान था।
  • 1912 – पहली लोहा इस्पात कंपनी के शुरुआत जे.एन. टाटा द्वारा (जमशेदपर में), दिल्ली के चाँदनी चौक में लार्ड हार्डिंगे पर रास बिहारी बोस और सचिन्द्र सान्याल ने बम फेंका।
  • 1917 – कोलकाता में पहली जूट मिल लगाने वाले मारवाड़ी सेठ हुकुमचंद ने चीन से व्यापार किया, गाँधीजी के नेतृत्व में चम्पारन जिले में एक सत्याग्रह शुरू हुआ यह गांधीजी का पहला सत्याग्रह था।
  • 1941 – 35 प्रतिशत से ज्यादा हथकरघा में फ्लाई शटल का प्रयोग, रवीन्द्रनाथ टैगोर की मृत्यु, भारत से सुभाष चंद्र बोस का पलायन।

19वीं सदी में किस देश में उद्योगपतियों द्वारा मशीनों का प्रयोग किया जाता था ?

उत्तर- अमेरिका

कौन से दशक में इंग्लैण्ड में कारखाने खुले ?

उत्तर- 1730 के दशक में।

 गुमाश्ता कौन थे जिनको भारत में ईस्ट इंडिया कम्पनी ने तैनात किया था ?

उत्तर- बुनकरों के ऊपर सुपरवाइजर

नए उपभोक्ता तैयार करने के लिए कौन सा तरीका है ?

उत्तर- विज्ञापनों द्वारा

औद्योगीकरण के सबसे पहले चरण में इंग्लैंड के मुख्य उद्योग कौन से थे ?

उत्तर- कपास और धातु उद्योग।

स्पिनिंग जैनी ने किस प्रक्रिया में वृद्धि की ?

उत्तर- कताई

यूरोपीय प्रबन्धक एजेन्सियों की भारत में किस प्रकार के उद्योगों में रूचि थी ?

उत्तर- चाय और कॉफी के रोपण में।

NCERT Class 6 to 12 Notes in Hindi

प्रिय विद्यार्थियों आप सभी का स्वागत है आज हम आपको Class 10 Science Chapter 4 कार्बन एवं उसके यौगिक Notes PDF in Hindi कक्षा 10 विज्ञान नोट्स हिंदी में उपलब्ध करा रहे हैं |Class 10 Vigyan Ke Notes PDF

URL: https://my-notes.in/

Author: NCERT

Editor's Rating:
5

Pros

  • Best NCERT Notes in Hindi

Leave a Comment

Free Notes PDF | Quiz | Join टेलीग्राम
20seconds

Please wait...